Bollywood

Meena Kumari: मीना कुमारी के लिए पागल थे चम्बल के डाकू, हाथ पर चाकू से लिया था ऑटोग्राफ

Meena Kumari Life Story : ट्रेजेडी क्वीन  मीना कुमारी (Meena Kumari) के चाहने वालों की लिस्ट में आम जनता से लेकर बॉलीवुड के कई बड़ेे स्टार्स तक शामिल थे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि चम्बल के डाकू भी मीना कुमारी के लिए पागल हुआ करते थे. इतना ही नहीं जब चम्बल के डाकू ने मीना कुमारी से ऑटोग्राफ (Meena Kumari Biography ) लिया तो उस समय मीना कुमारी (Meena Kumari Story) के आँसू रुकने का नाम नही ले रहे थे. तो चलिए आप को बताते है ये किस्सा…

Meena Kumari Story
Meena Kumari Story

Meena Kumari से जुड़ा अनसुना किस्सा

Meena Kumari ने 38 साल की उम्र में करीब 90 से ज्यादा फ़िल्मों में काम किया था. उनकी अदाकारी और खूबसूरती का हर कोई कायल था. मीना कुमारी ने बहुत सारी फिल्मो में काम किया, मगर उनकी फिल्म पाकीजा ने उन्हें अमर बना दिया इस फिल्म से ज्यादा इसके परदे के पीछे की एक कहानी बहुत प्रसिद्ध हुई थी. कि चम्बल के डाकू ने मीना कुमारी से अपने हाथ पर अपना नाम लिखवाया था.

Meena Kumari को जब चम्बल के डाकुओं ने  लिया था घेर

फिल्म पाकीजा की शूटिंग के लिए दोनों  (Meena Kumari-Kamaal Amrohi) मध्य प्रदेश के शिवपुरी में शूटिंग के लिए गये थे. वहा से वापस आते वक्त अचानक उनकी गाड़ी का पेट्रोल खत्म हो गया, और रात भी बहुत हो चुकी थी. दूर-दूर तक भी कोई पेट्रोल पंप नही था. उस घने जंगल में कोई आबादी नही रहती थी. बस के जाने का समय भी सुबह का ही था, तो कमाल अमरोही ने रात में वही रुकने का फैसला किया. अचानक, आधी रात में वहा पर डाकुओ का एक झुंड पहुँच गया, और दोनों को घेर लिया.

डाकू ने मीना कुमारी से हाथ पर चाकू से लिया ऑटोग्राफ

जब कार में मीना कुमारी (Meena Kumari) के होने की बात डाकुओ के सरदार को पता चली, तो उसने तुरंत दोनों को कार से बाहर निकाला, और दोनों के सोने, खाने-पीने का बहुत अच्छा इंतजाम किया. उसी समय डाकुओ का सरदार एक धारदार चाकू ले आया, और मीना कुमारी से अपने हाथ पर चाकू से ऑटोग्राफ देने की अपील की, क्योकि वह डाकू मीना कुमारी का बहुत बड़ा फेन था. मीना कुमारी ने डरते डरते उसके हाथ पर ऑटोग्राफ दे दिया. जब मीना कुमारी डाकू के हाथ पर ऑटोग्राफ दे रही थी, तो उनकी आँखों से आँसू बहने लगे.

मीना कुमारी की फ़िल्म पाकीजा को बनाने में लगे 16 साल

वहां से लोटने के बाद मीना कुमारी (Meena Kumari) को पता चला, कि वह चम्बल का सबसे मशहूर डाकू अमृत लाल (Amrit Lal) था. मीना कुमारी की सबसे शानदार फ़िल्म पाकीजा को बनाने में लगभग 16 साल लगे. फिल्म निर्माता (Kamaal Amrohi) मीना कुमारी के पति भी थे. शादी के कुछ दिनों बाद ही दोनों के रिश्ते खराब हो गये थे. जिसके चलते इस फ़िल्म को बनाने में करीब 16 साल लग गये थे. फ़िल्म के पूरा होते ही मीना कुमारी बहुत बीमार पड़ गई थीं, और इस दुनिया को अलविदा कह दिया था.

यह भी पढ़े:- Amrish Puri : जब बॉलीवुड के विलेन अमरीश पुरी ने Govinda की इस गलती पर जड़ दिया था जोरदार तमाचा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *