Bollywood

Gadar 2 Review in Hindi: Sunny Deol-Ameesha Patel स्टारर फिल्म में छा गया तारा सिंह का हथौड़ा! डायलॉग्स, एक्शन, इमोशन का जबरदस्त तड़का है गदर 2..

Sunny Deol Gadar 2 Movie Hindi Review: Gadar सनी देओल, (Sunny Deol) अमीषा पटेल (Ameesha Patel) की सबसे हिट फ़िल्मों में गिनी जाती है जो 2001 में रिलीज हुई थी. उस समय इस फिल्म का मुकाबला आमिर खान की सुपरहिट फिल्म लगान (Lagaan) के साथ हुआ था. फिर भी यह फिल्म ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी. अब इस फिल्म का सिक्वल आ चुका है. सनी देओल अमीषा पटेल स्टारर फिल्म गदर 2 (Gadar 2) सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है. इस बार यह फिल्म अक्षय कुमार की OMG 2 को टक्कर दे रही है.
Gadar 2
Gadar2 movie Hindi Review
गदर (Gadar) भारत में बहुत से लोगों के लिए एक भावनात्मक फिल्म है. अनिल शर्मा ने 2001 में बॉक्स ऑफिस पर दिल जीतने वाली एक शानदार फिल्म बनाई थी. अब, अनिल शर्मा ने गदर 2 (Gadar 2) में सनी देओल, (Sunny Deol) अमीषा पटेल (Ameesha Patel) और उत्कर्ष शर्मा (Utkarsh Sharma) के साथ-साथ कई अन्य लोगों को के साथ वापसी की है. लेकिन क्या गदर 2 अपनी विरासत को बरकरार रखती है या नहीं? . क्या अनिल शर्मा ने 2001 स्टारर फिल्म जैसा जादू फिर से दिखा पाए है?  क्या गदर 2 सिनेमाघरों में देखने लायक है? यहां पढ़े फिल्म का रिव्यू….
Film Review: गदर 2 (Gadar 2)
Gadar 2 Star Cast: सनी देओल, (Sunny Deol) अमीषा पटेल, (Amisha Patel)  उत्कर्ष शर्मा, (Utkarsh Sharma) सिमरत कौर, (Simrat Kaur) मनीष वाधवा, (Manish Wadhwa) आमिर नाइक, (Aamir Naik) गौरव चोपड़ा, (Gaurav Chopra) लव सिन्हा (Love Sinha) और अन्य कलाकार
Category: देश भक्ति, एक्शन ड्रामा
Writer: Shaktimaan Talwar
Director: अनिल शर्मा
Producer: Zee Studio,Kamal Mukut, Anil Sharma
Date: 11 अगस्त, 2023 थिएटर

क्या है Gadar 2 फिल्म की कहानी

यह कहानी 1971 में हुए भारत–पाकिस्तान के युद्ध से पहले की है. तारा सिंह, (Sunny Deol) सकीना (Ameesha Patel) अपने बेटे जीते (Utkarsh Sharma)  के साथ भारत पंजाब के पठानकोट में खुशहाल जीवन बिता रही हैं. जीते का मन पढाई में बिल्कुल भी नही लगता है. जीते के सर पर फ़िल्मों में एकटिंग करने का भूत सवार है लेकिन तारा सिंह चाहता है कि उनका बेटा पढ़-लिखकर एक बड़ा आदमी बने. उसकी तरह एक ट्रक ड्राइवर नही. तारा सिंह भारतीय सेना के लिए सामान पहुचाने का काम करता है. हालाँकि, पाकिस्तान में हालात अच्छे नहीं हैं. पाकिस्तानी सेना के जनरल हामिद इकबाल (Manish Wadhwa) इस बात से काफी परेशान हैं कि तारा सिंह ने उनके करीब 40 सैनिकों को मार डाला और वापस अपने देश भारत भाग गए. उसका मानना है कि सकीना के पिता अशरफ अली (दिवंगत अमरीश पुरी) ने भी उन्हें भागने में मदद की.

बदले की आग में जल रहा पाकिस्तानी जनरल

हामिद इकबाल (Manish Wadhwa) बदले की आग में जल रहा है. वह अपने अधिकारियों को बरगलाता है और अशरफ अली को देशद्रोही घोषित करके फांसी पर लटका देता है. सकीना को अपने परिवार के खोने का दुख है लेकिन वह भारत में अपने प्यारे परिवार के साथ अपना जीवन जी रही है. हामिद इकबाल अब तारा सिंह से अपना बदला लेना चाहता है और भारत के खिलाफ क्रश इंडिया आंदोलन की शुरुआत करता है और भारत पर आक्रमण करने का फैसला करता है. हमले की कोशिश करते समय, उसकी मुलाकात तारा सिंह से होती है. ऐसी खबर आती है कि तारा सिंह को पाकिस्तानी फ़ौज ने पकड़ लिया है.

बेटे को बचाने पाकिस्तान पहुंचे तारा सिंह

तारा सिंह के बारे में यह सुनकर सकीना अपना दिमागी संतुलन खो बैठती है. जीते से अपनी मां को दर्द नहीं देखा जाता है. वह अपने पिता की खोज में भेष बदलकर पाकिस्तान पहुंच जाता है. उसकी मुलाकात मुस्कान नाम की एक पाकिस्तानी लड़की से होती है. हालाँकि, फिल्म में ट्विस्ट तब आता है जब तारा सिंह अपने घर पहुँच जाता है. उधर जीते को पाकिस्तानी सेना पकड़ लेती है. तारा और सकीना फिर से मिलते हैं और सकीना तारा से अपने बेटे को पाकिस्तान से वापस लाने के लिए कहती है. पिछली बार तारा सिंह सकीना के लिए पाकिस्तान गए थे और इस बार अपने बेटे के लिए.

Gadar 2 में सभी कलाकारों का काम सराहनीय

तारा सिंह के रूप में सनी देओल पहली फिल्म की तरह अद्भुत हैं. अमीषा पटेल सकीना की भूमिका में एक माँ के तौर पर पूरी तरह से फिट बैठती हैं. जनरल हामिद इकबाल के रूप में मनीष वाधवा आपको मंत्रमुग्ध कर देंगे. उनका खतरनाक अभिनय प्रभावशाली और स्थायी है जो आपको अंत तक बांधे रखेगा. आमिर नाइक, राकेश बेदी, डॉली बिंद्रा, मधुमालती कपूर जैसे कई पुराने कलाकारों को बरकरार रखा गया है और उन्हें फिर से एक साथ देखना एक सुखद अनुभव है. युवा पीढ़ी की बात करें तो जीते के किरदार में उत्कर्ष शर्मा आपको काफी प्रभावित करेंगे. वह वास्तव में तारा सिंह का बेटा है और एक्शन सीन्स में यह साबित भी कर देता है. उत्कर्ष शर्मा इमोशनल के साथ-साथ एक्शन सीन में भी अच्छे हैं. हालाँकि, सिमरत कौर कई जगहों पर आपका ध्यान खींचेगी. उन्होंने मुस्कान की भूमिका में अच्छा काम किया है.

Gadar 2 पुरानी यादों को बरकरार रखने की नायाब कोशिश

अनिल शर्मा ने नई फिल्म (Gadar 2) में पुरानी भावना (Gadar) को बरकरार रखते हुए निर्देशक के रूप में अद्भुत काम किया है. निर्देशन शानदार है और आप जगह-जगह सीटियां बजाने को मजबूर हो जाते हैं. फिल्म अद्भुत संवादों और ज़बरदस्त एक्शन दृश्यों से भरी हुई है जो आपको सिनेमाघरों में सीटियां बजाने पर मजबूर कर देगी. गदर 2 में आपको ऐसे मूवमेंट देखने को मिलने वाले हैं. जो पहली फिल्म गदर की याद दिलाते है.

 Gadar 2 की कमजोरी

गदर 2 में सबसे बड़ा मुद्दा जो देखने को मिल सकता है वह है समय. इसमें कोई शक नहीं कि यह एक लंबी फिल्म है. फ़र्स्ट हाफ़ थोड़ा ज़्यादा खींचा हुआ लगता है. फिल्म में बहुत सारे गाने हैं जो काफी बड़े भी हैं. यह आसानी से एक छोटी फिल्म हो सकती थी. देशभक्ति का एंगल अच्छा है लेकिन दुश्मन की ओर से आक्रामकता जबरदस्ती थोपी हुई लगती है. फिल्म में कुछ विवादास्पद संवाद और दृश्य भी हैं जो आपकी रीढ़ में सिहरन पैदा कर देंगे या कहीं-कहीं रोंगटे खड़े कर देंगे.
गदर 2 सनी देओल की एक बेहतरीन मनोरंजक फिल्म है और इसे बड़े पर्दे पर अवश्य देखना चाहिए. खासकर यदि आप 2000 के दशक को फिर से जीना चाहते हैं. कुछ चीजों को छोड़ दें तो 4 स्टार्स के साथ फिल्म काफी एंटरटेनर है.

Chandani Chaurasia

Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *